1

नई स्वास्थ्य देखभाल निरंतरता

डावोस - पिछले कुछ दशकों में स्वास्थ्य देखभाल उद्योग में नाटकीय रूप से बदलाव आया है। अनुसंधान और विकास ने हमें आश्चर्यजनक नए उपचार, शक्तिशाली निदान, और तेजी से बढ़ रहा अपार ज्ञान दिया है। मेडिकल विशेषज्ञताओं और प्रदाताओं में भारी वृद्धि हुई है। सरकारें और बीमा कंपनियां शक्तिशाली खिलाड़ी बन गई हैं। और रोगी मुखर और सक्रिय उपभोक्ता बन गया है, वह बेहतर विकल्पों की खोज करने के लिए तैयार है, भले ही इसका मतलब विदेश जाना ही क्यों न हो।

लेकिन, स्वास्थ्य देखभाल अधिक प्रभावी तो बन गई है, पर यह अधिक जटिल और महंगी भी हो गई है। आबादियों के बढ़ने और उनकी उम्र बढ़ने से स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों पर बहुत दबाव पड़ रहा है, जो पहले से ही कैंसर और मधुमेह जैसी पुरानी बीमारियों के बोझ से दबी हुई हैं। चिकित्सा संस्थान का अनुमान है कि अकेले संयुक्त राज्य अमेरिका में, प्रति वर्ष लगभग $750 बिलियन – कुल स्वास्थ्य देखभाल के खर्च का लगभग 30% – “अनावश्यक सेवाओं, अत्यधिक प्रशासनिक लागतों, धोखाधड़ी और अन्य समस्याओं पर बर्बाद हो जाता है।” यदि हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि भविष्य की पीढ़ियों के लिए स्वास्थ्य देखभाल सस्ती और व्यापक रूप से उपलब्ध हो, तो हमें इस ��ारे में मौलिक रूप से पुनर्विचार करना होगा कि हम किस तरह इसे प्रदान करें और इसका प्रबंधन करें।

यह महत्वपूर्ण है कि स्वास्थ्य देखभाल को संबद्धता की जरूरत है। चिकित्सा पेशेवरों के लिए दुनिया भर के सहयोगियों के साथ प्रासंगिक डेटा साझा करना सहज हो जाना चाहिए। अस्पतालों में चिकित्सा उपकरणों और प्रणालियों को जानकारी के विभिन्न स्रोतों को आपस में जोड़ने में सक्षम होना चाहिए। उपभोक्ता प्रौद्योगिकी के नए उत्पाद,जैसे शरीर पर पहनने योग्य स्वास्थ्य सेंसर, संभावित चिकित्सा समस्याओं के गंभीर रूप धारण करने से पहले ही चिकित्सकों को उनके बारे में स्वचालित रूप से सतर्क कर सकते हैं। यद्यपि ऐसे नवोन्मेषों के सामने प्रणाली अंतरसंक्रियता और रोगियों की गोपनीयता की रक्षा करने की जरूरत जैसी चुनौतियां होंगी, परंतु यात्रा और बैंकिंग उद्योगों में इंटरनेट के एकीकरण से यह पता चलता है कि क्या कुछ संभव है।

दरअसल, संबद्ध स्वास्थ्य देखभाल पहले से ही हकीकत बनती जा रही है। उदाहरण के लिए, फिलिप्स ने एक ऐसी प्रौद्योगिकी विकसित की है जिससे चिकित्सक प्रोस्टेट कैंसर बायोप्सी से प्राप्त चिकित्सा डेटा को दुनिया भर के सहयोगियों के साथ साझा कर सकते हैं। इससे पहले, बायोप्सी को केवल भौतिक रूप से साझा किया जा सकता था, जिससे प्रोस्टेट कैंसर के सही प्रकार का निदान कर पाना मुश्किल होता था। परिणामस्वरूप, अधिक सुरक्षित रहने के लिए संभवतः सर्जनों और रोगियों ने इनवेसिव सर्जरी का चुनाव किया होगा। अब, दुनिया भर में डॉक्टरों की टीमों के पास एक अतिरिक्त साधन है जिससे वे अलग-अलग रोगियों के लिए अधिक सटीक निदान और उपचार योजनाओं पर एक साथ काम करने में सक्षम होते हैं।

अब पूरा रोगी अनुभव बदल जाएगा क्योंकि बेहतर रोकथाम, शीघ्र निदान, अस्पताल में कम समय के लिए रहना, और लंबे समय तक आत्मनिर्भर बने रहना सामान्य बात हो जाएगी। यदि रोगी अस्पताल में वापस आते हैं, तो वे अपने महत्वपूर्ण लक्षणों के विकास के बारे में, पहनने योग्य उपकरणों द्वारा प्राप्त किए गए उपयोगी डेटा अपने साथ लाएंगे। वे अपने उपचार के बारे में हो रही प्रगति को खुद ही ट्रैक करते रह सकते हैं, और उनके डेटा को मेडिकल रिकॉर्ड के साथ एकीकृत किया जा सकता है ताकि उनके स्वास्थ्य के बारे में दीर्घकालीन दृष्टिकोण की जानकारी मिल सके, न कि चिकित्सक के पास विज़िट करने के दिन सरसरी तौर पर प्रदान की जानेवाली प्रासंगिक जानकारी। चौबीसों घंटे पेशेवर प्रशिक्षण और सहायता तक पहुंच मिलने के कारण, रोगी अपनी स्वयं की शारीरिक स्वस्थता का प्रबंध करने के लिए और अधिक सशक्त महसूस करेंगे।

संबद्ध स्वास्थ्य देखभाल से भी, विशेष रूप से विकासशील देशों और ग्रामीण क्षेत्रों में, और अधिक लोगों को जीवन-रक्षक उपचार तक पहुंच उपलब्ध हो सकती है। दुनिया में सबसे अधिक शिशु मृत्यु दर वाले देश इंडोनेशिया में, मेडन के ग्रामीण क्षेत्र में दाइयां एक मोबाइल अनुप्रयोग का उपयोग करके गर्भवती महिलाओं से चिकित्सा डेटा इकट्ठा करती हैं। डेटा का विश्लेषण प्रसूति और स्त्रीरोग विशेषज्ञों द्वारा कहीं और किया जाता है, जिससे बीमारी के उच्च जोखिम वाली महिलाओं की पहचान करके उनका इलाज जल्दी किया जा सकता है। युगांडा में, ग्राम स्वास्थ्य केंद्रों में दाइयां दूरदराज के विशेषज्ञों को संपीडित अल्ट्रासाउंड स्कैन भेजती हैं, जिनकी संख्या किसी कुशल स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा डिलीवर किए जा सकने वाले नवजात शिशुओं की संख्या से लगभग दोगुनी होती है।

अधिक मोटे तौर पर, संबद्ध स्वास्थ्य प्रौद्योगिकी के फलस्वरूप पेशेवर स्वास्थ्य देखभाल और उपभोक्ता बाजार को एकीकृत किया जा सकेगा। यह एक निरंतरता पैदा करेगा जो स्वस्थ रहने और रोकथाम पर ध्यान केंद्रित करने के साथ शुरू होती है, उपभोक्ताओं को अपने स्वयं के स्वास्थ्य पर अपना नियंत्रण रखने के लिए सशक्त बनाती है, और देशों को अपने नागरिकों के समग्र स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए सक्षम बनाती है। यह निरंतरता फिर आगे बढ़कर ऐसे निश्चित निदानों और न्यूनतम इनवेसिव उपचारों की ओर जाएगी, जो गुणवत्ता और लागत के लिए अनुकूलित होंगे, और अंततः यह स्वास्थ्यलाभ और घरेलू देखभाल की ओर जाएगी, इस प्रकार चिकित्सा देखभाल जितना जल्दी संभव हो सकेगा अधिक सुविधाजनक और किफायती अस्पताल से इतर सेटिंग्स के रूप में स्थानांतरित हो जाएगी।

सरकारों, बीमा कंपनियों, चिकित्सा पेशेवरों, रोगियों, और देखभालकर्ताओं को मिलकर काम करने की जरूरत है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि स्वास्थ्य निरंतरता में इस बदलाव को अच्छी तरह से प्रबंधित किया जाता है, ताकि पहुँच का विस्तार किया जा सके, परिणामों में सुधार किया जा सके, और उत्पादकता को बढ़ाया जा सके। साथ में मिलकर, हमारे पास अरबों लोगों के जीवन में सुधार लाने, अधिक स्वस्थ समाज तैयार करने, लागतों में बचत करने, और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए अवसर है।