2

निर्बाध आधारिक संरचना

वाशिंगटन, डीसी – एक सामान्य आँकड़े पर विचार करें। विकासशील विश्व में हर महीने, पाँच मिलियन से भी अधिक लोग शहरी इलाकों में स्थानांतरण कर जाते हैं, जहाँ पर नौकरियाँ, स्कूल, और सभी तरह के अवसर अक्सर आसानी से उपलब्ध होते हैं। परंतु जब लोग स्थानांतरण करते हैं, तो बुनियादी सेवाओं - पानी, बिजली, और परिवहन - की ज़रूरतें उनके साथ चलती हैं, जिससे आधारिक संरचना की माँग में तेज़ी से वृद्धि होती है।

यह वास्तविकता केन्या से लेकर किरिबाती तक - उस हर स्थान पर साफ दिखाई देती है जहाँ तीव्र गति से हो रहे शहरीकरण, व्यापार और उद्यमशीलता को समर्थन देने की आवश्यकता, और जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों का सामना करने के प्रयासों के फलस्वरूप आधारिक संरचना में भारी कमी दिखाई दी है। और यह वह कमी है जो उन्नत अर्थव्यवस्थाओं के सामने भी आती है।

सरल शब्दों में कहा जाए तो यह ज़रूरी है कि विश्व भर में आधारिक संरचना का निर्माण और आधुनिकीकरण दीर्घ-कालीन वैश्विक विकास की रणनीति का हिस्सा हो। इसी कारण जी-20 वित्त मंत्रियों की इस वर्ष हाल ही में सिडनी, ऑस्ट्रेलिया में पहली बार हुई बैठक में एकमात्र रूप से आधारिक संरचना में निवेश को एक ऐसे तत्व के रूप में स्वीकार किया गया जो सुदृढ़, धारणीय, और संतुलित सुधार के लिए महत्वपूर्ण है।

चूंकि जी-20 वित्त मंत्रियों की बैठक अगले महीने वाशिंगटन डीसी में किए जाने की तैयारी हो रही है, इसलिए एक सावधानी टिप्पणी करना उचित होगा: विकास को बढ़ावा देने और नौकरियों का सृजन करने के लिए मात्र आधारिक संरचना के निवेश में वृद्धि करना पर्याप्त नहीं है।